बांग्लादेश पहुँचे क़रीब 10 लाख Refugees यानी शरणार्थियों को मॉनसून में हैज़ा से बचाने के लिए टीके लगाने का अभियान चलाया गया है.

साल 2050 तक दुनिया भर की क़रीब एक चौथाई आबादी ऐसे देशों में रह रही होगी जहाँ पीने के ताज़ा पानी की लगातार कमी हो जाएगी.

हर 10 में से 9 लोग ऐसे इलाक़ों में रहते हैं जहाँ वो अपनी साँसों में ऑक्सीजन खींचने के बजाय ऐसी ज़हरीली हवा अपने अन्दर भरते हैं.

लोकतांत्रिक संस्थानों और परम्पराओं के सबल होने और फलने-फूलने के लिए निडर, निष्पक्ष और स्वतंत्र मीडिया की मौजूदगी बहुत ज़रूरी है.

अगर मामूली सी सावधानी बरती जाए तो सस्ते मगर टिकाऊ और असरदार नुस्ख़े से दुनिया भर में क़रीब 14 करोड़ बच्चों को कई तरह की बीमारियों से बचाया जा सकता है.

दुनिया भर में कामकाजी लोगों की क़रीब 60 फ़ीसदी संख्या अनौपचारिक क्षेत्र यानी Informal Sector में काम करती है जहाँ अक्सर हालात बहुत अच्छे नहीं होते हैं.

बांग्लादेश में बारिश का मौसम यानी मानसून शुरू होने में अभी महीने भर का वक़्त बाक़ी है मगर पहले से ही बारिश और तूफ़ानी हवाओं की वजह से रोहिंज्या शरणार्थियों के लिए मुश्किलें पैदा होने लगी हैं.

सैनिक उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल होने वाले ड्रोन और अन्य ऐसे अत्याधुनिक और स्वचालित हथियारों को इंसानों के नियंत्रण में रखना बहुत ज़रूरी हो गया है जिनके ज़रिए इंसानों को मारा जा सकता है. इस […]

  संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार कार्यालय ने पाया है कि लीबिया में सशस्त्र गुटों ने कई वर्षों  से हज़ारों लोगों को जेलों में बन्द करके रखा है. और भी ज़्यादा चिन्ता की बात ये है […]

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी UNHCR ने कहा है कि यूरोपीय देशों में पहुँचने वाले प्रवासियों की संख्या में हाल के समय में कुछ कमी तो आई है मगर जो प्रवासी आ रहे हैं उन्हें नई […]

दुनिया भर के बहुत से फ़ुटबॉल प्रेमी लियोनेल मैस्सी को एक महान खिलाड़ी मानते हैं. उनकी लोकप्रियता को देखते हुए लियोनेल मैस्सी को संयुक्त राष्ट्र के पर्यटन संगठन – UN’s World Tourism Organisation का सदभावना […]

विस्फोटक सामग्रियों और बारूदी सुरंगों यानी Mines के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए चार अप्रैल को अन्तरराष्ट्रीय दिवस यानी International Mine Awareness Day मनाया गया. इस मौक़े पर न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में […]

ब्रिटेन के सैलिस्बरी इलाक़े में दो रूसी व्यक्तियों पर हुए सन्दिग्ध रासायनिक हमले के नमूनों की जाँच-पड़ताल की जा रही है जिसके नतीजे अगले सप्ताह मिलने की उम्मीद जताई गई है. रूसी मूल के ये […]

पिछले क़रीब चार वर्षों से भीषण गृहयुद्ध का सामना कर रहे यमन की मदद के लिए मंगलवार को जिनीवा में अन्तरराष्ट्रीय समुदाय ने इकट्ठा होकर क़रीब दो अरब डॉलर की रक़म जुटाने का संकल्प लिया. […]

संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंटॉनियो गुटेरेस ने फ़लस्तीनी क्षेत्र ग़ाज़ा में शुक्रवार, 30 मार्च को फ़लस्तीनियों और इसराइली सुरक्षा बलों के बीच हुई हिंसक झड़पों की निष्पक्ष जाँच की माँग की है. उन झड़पों में कम […]

अफ़ग़ानिस्तानव में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत तादामीची यामामोतो ने देश में संसदीय और ज़िला परिषदों के चुनाव के लिए हुई प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त की है. अफ़ग़ानिस्तान के चुनाव आयोग ने रविवार को घोषणा […]

फ़रवरी के आख़िरी सप्ताह में सुरक्षा परिषद ने सीरिया में कम से कम एक महीने के लिए युद्ध विराम की माँग करते हुए प्रस्ताव पारित किया था. उस प्रस्ताव पर सभी पक्षों ने मुस्तैदी से […]

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष यूनीसेफ़ का कहना है कि यमन में पिछले तीन वर्षों से चल रहे गृहयुद्ध ने बच्चों की स्कूली शिक्षा पर बहुत बुरा असर डाला है. इस युद्ध की वजह से क़रीब […]

संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंटॉनियो गुटेरेस ने रोहिंग्या लोगों के बारे में मयाँमार के एक वरिष्ठ सैनिक जनरल यू मिन आँग ह्लेंग के बयान पर गहरी चिन्ता जताई है. मीडिया ख़बरों के अनुसार जनरल यू मिन […]

अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन IOM के अध्यक्ष विलियम लेसी स्विंग का कहना है कि दुनिया भर को एक ऐसा स्थान बनाए जाने की ज़रूरत है जिसका रूप-रंग बहुसांस्कृतिक हो. यानी एक ऐसी दुनिया जहाँ सभी पृष्ठभूमियों, […]

सोमालिया में लगातार सूखा पड़ने से बड़े पैमाने पर मवेशियों की मौत हो गई है जिससे खेतीबाड़ी भी ख़तरे में पड़ गई है. कुछ इलाक़ों से तो ऐसी ख़बरें हैं कि साठ फ़ीसदी तक मवेशी […]

सीरिया में चल रहे गृहयुद्ध के प्रभावित लोगों को मदद पहुँचाने की कोशिश में लगीं संयुक्त राष्ट्र की विभिन्न एजेंसियों का कहना है कि वहाँ मानवीय संकट और ज़्यादा गहराता जा रहा है. हालाँकि पिछले […]

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार कार्यालय OHCHR ने कहा है कि तुर्की में पिछले 18 महीनों से चले आ रहे आपातकाल यानी Emergency के दौरान मानवाधिकारों का उल्लंघन हुआ है. संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय […]

  संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन FAO ने शहरी इलाक़ों में और ज़्यादा हरे-भरे इलाक़े विकसित करने का आहवान किया है. 21 मार्च को अन्तरराष्ट्रीय वन दिवस के मौक़े पर संगठन का कहना है […]

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को हुए एक आत्मघाती हमले में कम से कम 29 लोगों की मौत हो गई. ये विस्फोट काबुल में एक दरगाह के पास हुआ जहाँ बहुत से लोग नौरोज़ […]

In 2015 in the Indian Sub-continent Pakistan and India, recorded about 4,000 deaths associated with very short heatwave…

How the world still had the plastic waste crisis when the technology was available to recycle plastic or create plastics that are bio-degradable.

In India, many people are still unable to understand the rational and logic behind Government’s sudden and secret decision of demonetisation. Here are some insights about the whole issue…

“We want to send a message to the people that together, as a team, we can suppress any problems that appear and eventually fulfill our goal.”

One in four children has been physically abused, one in five girls has been sexually abused and one in three women has been a victim of physical violence at some point in her lifetime…

Region continues to witness illegal settlement activities and settler-related violence, including demolitions of Palestinian-owned structures have continued, including punitive demolitions.

WHO has opened a high-level meeting to draft a common strategy on health care for the newcomers, ranging from prompt vaccination against measles and polio to dealing with childbirth complications.

Scroll To Top